एयरटेल को पछाड़कर दूसरी बड़ी दूरसंचार कंपनी बनी जिओ : ट्राई

एयरटेल को पछाड़कर दूसरी बड़ी दूरसंचार कंपनी बनी जिओ : ट्राई

नई दिल्ली:मुकेश अंबानी की दूरसंचार कंपनी रिलायंस जिओ ने मई महीने में भारती एयरटेल को पछाड़कर देश की दूसरी सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनी का तमगा हासिल कर लिया है. भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) के आंकड़ों के अनुसार मई महीने में जिओ के ग्राहकों की संख्या 32.29 करोड़ तथा बाजार हिस्सेदारी 27.80 प्रतिशत पहुंच गई.जिओ ने सितंबर 2016 में परिचालन की शुरुआत की और सस्ती दरों के दम पर बेहद प्रतिस्पर्धी दूरसंचार क्षेत्र में तेजी से बढ़त हासिल की. एयरटेल ने बहुत पहले 1995 में ही परिचालन की शुरुआत की थी. ऐसे में एयरटेल को जिओ के द्वारा पछाड़ा जाना…

Read More

पाकिस्तान का वायु क्षेत्र खुलने से अमेरिका और यूरोप की उड़ानों की लागत घटेगी

पाकिस्तान का वायु क्षेत्र खुलने से अमेरिका और यूरोप की उड़ानों की लागत घटेगी

नई दिल्ली:पाकिस्तान का वायु क्षेत्र खुलने से एयरलाइंसों को राहत मिली है. एयर इंडिया ने कहा है कि हवाई क्षेत्र खुलने से अमेरिका और यूरोप की उड़ानों की परिचालन लागत क्रमश: 20 लाख रुपये और पांच लाख रुपये घट जाएगी.पाकिस्तान द्वारा मंगलवार की सुबह सभी व्यावसायिक एयरलाइंसों के लिए अपने हवाई क्षेत्र को खोल दिया गया. इस बीच एयर इंडिया ने कहा है कि बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने अपने वायु क्षेत्र को बंद कर दिया था. विभिन्न अंतरराष्ट्रीय मार्गों को फिर से निर्धारित करने के कारण एयर इंडिया को करीब 491 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ.एयर इंडिया के…

Read More

इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) कैसे फाइल करें – स्टेप बाई स्टेप गाइड

इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) कैसे फाइल करें – स्टेप बाई स्टेप गाइड

इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने का सबसे आसान तरीका है – ई-फाइलिंग… इनकम टैक्स रिटर्न, यानी आयकर रिटर्न (Income Tax Return) दाखिल करने, यानी फाइल करने के लिए अब कुछ ही दिन बचे हैं. हर साल की तरह इस साल भी वित्तवर्ष 2018-19 के लिए इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल करने की आखिरी तारीख 31 जुलाई है. समय रहते इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने से सबसे बड़ा लाभ यह होता है कि अंतिम दिनों में जल्दबाज़ी में रिटर्न फाइल करते समय हो सकने वाली गड़बड़ियों और गलतियों की गुंजाइश खत्म हो जाती है. इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने का सबसे आसान…

Read More

एसबीआई ने आरटीजीएस, एनईएफटी, आईएमपीएस लेनदेन पर शुल्क हटाया

एसबीआई ने आरटीजीएस, एनईएफटी, आईएमपीएस लेनदेन पर शुल्क हटाया

नई दिल्ली:देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक ने इंटरनेट या मोबाइल पर एनईएफटी और आरटीजीएस से लेनदेन करने पर एक जुलाई से शुल्क हटा दिए हैं. बैंक ने यह कदम भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से इन शुल्कों को खत्म करने के बाद उठाया है.इसके अलावा बैंक ने आईएमपीएस (तत्काल भुगतान सेवा) से लेनदेन करने पर भी एक अगस्त से शुल्क हटाने का निर्णय किया है. बड़ी राशि के लेनदेन के लिए आरटीजीएस (रीयल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट) और दो लाख रुपये तक के लेनदेन के लिए एनईएफटी (नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर) प्रणाली…

Read More

भारत-अमेरिका ट्रेड वार : दोनों देशों के बीच उलझे मसले को सुलझाने की कवायद शुरू

भारत-अमेरिका ट्रेड वार : दोनों देशों के बीच उलझे मसले को सुलझाने की कवायद शुरू

खास बातेंदोनों देशों ने एक-दूसरे के कई सामानों पर ड्यूटी बढ़ा दीअमेरिका के सहायक अमेरिकी कारोबार प्रतिनिधि ने की बातचीतअमेरिकी सामान के लिए भारत का बाजार बहुत बड़ानई दिल्ली:अमेरिका और चीन के बीच ट्रेड वार की ख़बर ख़ूब चली, लेकिन भारत और अमेरिका के बीच भी बीते एक साल से ये ट्रेड वार जारी है. दोनों देशों ने एक-दूसरे के कई सामानों पर ड्यूटी बढ़ा दी है. ट्रंप इसको लेकर अपनी नाखुशी लगातार जताते रहे हैं. अब इस मसले को सुलझाने के लिए अधिकारियों की बैठक शुरू हो गई है.बीते 25 दिन से भारत के बाज़ारों में ख़ूब बिकने वाला…

Read More

बजट पेश होने के एक दिन बाद पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी, जानें कितना बढ़ गया भाव

बजट पेश होने के एक दिन बाद पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी, जानें कितना बढ़ गया भाव

खास बातेंपेट्रोल-डीजल के कीमतों में बढ़ोतरीबजट पेश होने के एक दिन बाद बढ़ीं कीमतेंशुक्रवार को पेश किया गया था बजटनई दिल्ली:भारी बहुमत से दूसरी बार सत्ता में आई मोदी सरकार ने शुक्रवार को बजट पेश किया. बजट में राजकोषीय मजबूती पर जोर देने के लिए सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर कर बढ़ा दिया. अब बजट पेश होने के एक दिन बाद इसका रिएक्शन आना शुरू हो गया है. शनिवार को पेट्रोल-डीजल के दाम में बढ़ोतरी देखने को मिली. दिल्ली मे शनिवार को पेट्रोल की कीमतों मे 2.45 रुपये की बढ़ोतरी देखने को मिली. इस बढ़ोतरी के साथ दिल्ली में पेट्रोल की…

Read More

उत्तर प्रदेश में आम बजट को किसी ने सराहा, किसी ने नकारा

उत्तर प्रदेश में आम बजट को किसी ने सराहा, किसी ने नकारा

लखनऊ:केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को लोकसभा में आम बजट पेश किया. बजट में कई ऐसे ऐलान हुए हैं, जिसके बाद आम लोगों से जुड़ी चीजें महंगी हुई हैं. इसके अलावा कई उत्पाद पर लोगों को राहत भी मिली है. इस पर लोगों ने मिलीजुली प्रतिक्रिया दी है. किसी ने इसे स्वागत योग्य बताया, तो किसी ने इसे सिरे से नकारा भी है.निजी क्षेत्र में काम करने वाले अमित दीक्षित ने कहा, “लोकलुभावन वादों में आमजन का ध्यान वास्तविक मुद्दों से भटकाकर प्रभावशाली बजट के बजाय झुनझुना थमा दिया है. यह बजट बहुत ही निराशाजनक है. इसमें मध्य वर्ग…

Read More

नीति आयोग ने बजट को देश के विकास में योगदान देने वाला बताया

नीति आयोग ने बजट को देश के विकास में योगदान देने वाला बताया

नई दिल्ली:नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने बजट को देश के विकास में योगदान देने वाला बताया है और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को बधाई दी है.नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने बजट पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि यह अपने तरह का ऐसा पहला बजट है जो भारत को पांच ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था के रूप में उभरने के लिए और निजी निवेश संचालित आर्थिक विकास को गति देने के लिए एक स्पष्ट रास्ता दिखाता है.राजीव कुमार ने कहा है कि बजट में वर्तमान में अर्थव्यवस्था के सामने मौजूद प्रमुख चुनौतियों का प्रभावी ढंग से ध्यान…

Read More

बजट पर नेताओं की प्रतिक्रियाएं : किसी ने बताया अच्छा, किसी ने कहा सिर्फ दिखावा

बजट पर नेताओं की प्रतिक्रियाएं : किसी ने बताया अच्छा, किसी ने कहा सिर्फ दिखावा

नई दिल्ली:बजट 2019-20 पर नेताओं और जन प्रतिनिधियों ने अलग-अलग प्रतिक्रियाएं दी हैं. महिलाओं के लिए बजट को अच्छा बताया गया है. बजट को किसी ने किसानों और गरीबों के हित में बताया है तो किसी ने इसे सिर्फ दिखावा कहा है.   बीजेपी के किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त ने बजट पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यह बजट किसान और गरीबों के लिए बहुत अच्छा बजट है. अगर सरकार टैक्स नहीं लगाएगी तो कैसे आम आदमी को उसका फायदा देगी और देश की तरक्की होगी?महाराष्ट्र के अमरावती से निर्दलीय सांसद नवनीत राणा ने कहा…

Read More

बजट 2019 : ध्यान राहत के बजाय वृद्धि पर केंद्रित, उद्योग जगत की मिलीजुली प्रतिक्रियाएं

बजट 2019 : ध्यान राहत के बजाय वृद्धि पर केंद्रित, उद्योग जगत की मिलीजुली प्रतिक्रियाएं

खास बातेंवित्त मंत्री को हैल्थ बजट 1.1 प्रतिशत से बढ़ाकर 2.5 फीसदी करना होगाबजट में साफ हुआ कि अगले पांच साल में क्या होगा सरकार का विजनफूड सेक्टर, निर्यात और रोजगार सृजन पर कुछ ज्यादा नहींनई दिल्ली:उद्योग जगत ने बजट 2019 पर मिली-जुली प्रतिक्रियाएं दी हैं. उद्योगपतियों ने कहा है कि यह बजट राहत देने वाला नहीं बल्कि आर्थिक वृद्धि पर केंद्रित है. कार्पोरेट जगत को इस बजट में कुछ हासिल नहीं हुआ है.मेदांता के चेयरमैन नरेश त्रेहान ने NDTV से कहा कि वित्त मंत्री को हैल्थ बजट 1.1 प्रतिशत से बढ़ाकर 2.5 फीसदी करना होगा. आयुष्मान भारत को बड़े…

Read More