Aaj Ka Panchang 21 october 2020 औषधि, दंत-मनो चिकित्सा, न्यायाधीश,शोध, पेट्रोलियम आदि से जुड़े कार्य सफल होने का उत्तम योग

आज आश्विन मास की शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि है। आज नवरात्रि का भी पांचवा दिन है जिसमें मां स्कंदमाता की पूजा की जाती है। ज्योतिषाचार्य पंडित सोमेश परसाई बताते हैं कि आज शोभन योग बना हुआ है। आज मूल नक्षत्र है।
21 october 2020 Ka Panchang Panchang 21 october 2020
जयपुर. आज आश्विन मास की शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि है। आज नवरात्रि का भी पांचवा दिन है जिसमें मां स्कंदमाता की पूजा की जाती है। ज्योतिषाचार्य पंडित सोमेश परसाई बताते हैं कि आज शोभन योग बना हुआ है। आज मूल नक्षत्र है।
औषधि, दंत-चिकित्सा, नेता, ज्योतिषी, सैनिक, पुलिस अधिकारी, गुप्तचर, न्यायाधीश,शोधकर्ता, खगोल शास्त्री, परामर्शदाता, औषधि या जड़ी-बूटी के व्यापारी, कंप्यूटर विशेषज्ञ, मनोचिकित्सक, पेट्रोलियम से जुड़े कार्य आज सफल हो सकते हैं। आज जरूरतमंदों को दान जरूर दें।
आज का पंचांगराष्ट्रीय मिति अश्विन 29 शक संवत 1942आश्विन शुक्ल पंचमी बुधवार विक्रम संवत 2077।सौर कार्तिक मास प्रविष्टे 05 रवि-उल्लावल 03 हिजरी 1442 ।सूर्य दक्षिणायन, दक्षिणगोल, शरद् ऋतु।पंचमी तिथि प्रातः 09 बजकर 08 मिनट तक उपरान्त षष्ठी तिथि का आरंभ।मूल नक्षत्र अर्द्धरात्रोत्तर 01 बजकर 13 मिनट तक उपरान्त पूर्वाषाढ़ नक्षत्र का आरंभशोभन योग प्रातः 06 बजकर 49 मिनट तक उपरान्त अति गण्ड योग का आरंभ।बालव करण प्रातः 09 बजकर 08 मिनट तक उपरान्त तैतिल करण का आरंभ।चन्द्रमा दिन-रात धनु राशि पर संचार करेगा।
दिशा शूल उत्तर
आज के शुभ मुहूर्त :विजय मुहूर्त दोपहर 01 बजकर 59 मिनट से 02 बजकर 44 मिनट तक।निशीथ काल रात 11 बजकर 40 म‍िनट से 21 अक्‍टूबर रात 12 बजकर 31 मि‍नट तक।अमृत काल शाम को 07 बजकर 5 म‍िनट से 08 बजकर 37 म‍िनट तक।गोधूलि मुहूर्त शाम को 5 बजकर 34 मिनट से 5 बजकर 58 मिनट तक।ब्रह्म मुहूर्त 22 अक्‍टूबर को सुबह 4 बजकर 45 मिनट से 5 बजकर 36 मिनट तक।
आज के अशुभ मुहूर्त :यमगंड सुबह 7 बजकर 30 म‍िनट से 9 बजे तक।गुल‍िक काल सुबह 10 बजकर 30 मिनट से 12 बजे तक।राहुकाल दोपहर 12 बजे से 1 बजकर 30 मिनट तक।

Related posts