मेरठ में फिर लगे ‘मकान बिकाऊ है’ के पोस्टर, 200 परिवारों ने दी पलायन की चेतावनी

Highlights- पीड़ित बुजुर्ग बोले तमंचे और बंदूक की दहशत से अच्छा कि पलायन कर जाएं- फलावदा में दो पक्षों में खूनी संघर्ष के बाद एक पक्ष आया दहशत में- बंजारान मोहल्ले के करीब 200 घरों के लोगों ने की पलायन की बात

मेरठ. थाना फलावदा क्षेत्र में अब दबंगों की दहशत से तंग आकर करीब 200 परिवारों ने अपने घर के आगे ‘मकान बिकाऊ है’ के पोस्टर लगा दिए हैं। तमंचे और बंदूक की दहशत से अच्छा है कि मोहल्ले में मकान बेचकर कहीं और चले जाएं। ऐसा पीड़ित बुजुर्ग का कहना है। बुजुर्ग का आरोप है कि न तो पुलिस और न प्रशासन उनकी सुन रहा है।
यह भी पढ़ें- भाजपा सरकार के खिलाफ सपा ने किया सत्याग्रह का ऐलान
बता दें कि दो दिन पहले थाना फलावदा क्षेत्र में दो पक्षों में खूनी संघर्ष हो गया था, जिसमें अंधाधुध फायरिंग में एक पक्ष के करीब 12 लोग घायल हो गए थे। दहशत में आए बंजारा जाति के पीड़ितों ने क्षेत्र से पलायन का ऐलान कर अपने मकान के बाहर मकान बिकाऊ है के पोस्टर लगवा दिए हैं। पीड़ित पक्ष के परिवारों की संख्या 200 के लगभग है। मौके पर पहुंची पुलिस ने पीड़ितों को समझाते हुए उनके द्वारा मकान बिकाऊ है को पुतवा दिया। एसएसपी अजय साहनी का कहना है कि किसी को भी छोड़ा नहीं जाएगा, जो भी क्षेत्र में शांति भंग करेगा उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने दो आरोपियों की गिरफ्तारी का दावा किया है। वहीं, पलायन प्रकरण को क्षेत्रीय राजनीति से जुड़ा बताते हुए अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की बात कही है।
ये था मामला
दरअसल, थाना फलावदा के मोहल्ला बंजारान में देर रात बंजारा जाति के सलमान के घर के बाहर भीड़ लगी हुई थी। बताया जा रहा है कि सलमान पक्ष के अकबर ने थाने के सामने हाल ही में करोड़ों रुपये की जमीन खरीदी है। बताया जाता है कि अकबर द्वारा जमीन खरीदना मीरसाहब के पक्ष के लोगों को नागंवार गुजरा। अकबर द्वारा जमीन खरीदने को लेकर दोनों पक्ष में पहले तो कहासुनी हुई इसके बाद मारपीट होने लगी। आरोप है कि कुछ ही देर में मीरसाहब पक्ष के फरहान, शानू समेत काफी लोग हाथों में हथियार लेकर बंजारों के घर पर धावा बोल दिया और फायरिंग शुरू कर दी। बंजारों की तरफ से भी कुछ लोगों ने फायरिंग की। फायरिंग के दौरान बंजारा पक्ष के सलमान, हाजी पीरू, मेहताब, साबिर, फिरोज, शाद अली, फुरकान, चंदवा उर्फ काला, इरशाद, दिलशाद, सुलतान समेत 12 लोग घायल हो गए। इनमें तीन बच्चे भी शामिल हैं। देर रात ताबड़तोड़ फायरिंग की सूचना से पुलिस में हड़कंप मच गया। पुलिस मौके पर पहुंची। इसी बीच घायलों को उठाकर बंजारा पक्ष के लोग मेरठ ले आए।
बताया जा रहा है कई लोगों को गोलियां लगी हैं। घटना के बाद पुलिस ने छह लोगों को हिरासत में ले लिया है। इन लोगों से पूछताछ की जा रही है। घायल बंजारा पक्ष के लोगों ने आरोप लगाया कि मीरसाहब पक्ष के लोग सलमान के घर में घुसकर रंगदारी मांग रहे थे। रंगदारी नहीं देने पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। पलायन की जानकारी जैसे ही थाना पुलिस को लगी वे बंजारा बस्ती पहुंचे और पीडितों को समझाने का प्रयास किया। इस दौरान बंजारा पक्ष के लोगों ने आरोपी पक्ष पर खुद को धमकी देने का आरोप लगाया। उनका आरोप था कि क्षेत्र में खुले घूम रहे नामजद आरोपी अब उन पर समझौते का दबाव बना रहे हैं। आए दिन उनको तमंचों और बंदूक दिखाकर धमकाने का प्रयास करते हैं।
यह भी पढ़ें- UP में बसपा ने फूंका विधानसभा उपचुनाव का बिगुल, इस सीट से घोषित किया प्रत्याशी

Meerut meerut crime Meerut Police exodus mass exodus exodus issue up police Uttar Pradesh

Related posts