पुलिस ने बच्चे से मिलवाया, खाना खिलवाया, फिर घर किया विदा

पुलिस की सराहनीय पहल

Police introduced the child, provided food, then left home

डिंडोरी/बजाग. केस न कार्यवाही बजाग पुलिस ने निभाई सामाजिक जिम्मेदारी। पूरा मामला जिले के बजाग थाना क्षेत्र का है जहां पीडित महिला बजाग के थाना प्रभारी अनुराग जामदार के पास इस बात की शिकायत लेकर पहुंची थी कि उसके पति ने बीती रात उसके साथ शराब पीकर बुरी तरह से न सिर्फ मारपीट की बल्कि उसके 4 माह के बच्चे को भी अपने पास जबरन रख लिया। रात को महिला जैसे तैसे भाग कर अपनी जान बचाई और अपने बडी बहन के घर पनाह ली। वहीं जब सुबह हुई तो महिला अपने बुजुर्ग पिता के साथ बजाग थाना पहुंची और पूरे घटना क्रम की जानकारी देते हुए बच्चा दिलाये जाने सहित पति उमेश के खिलाफ कार्यवाही की मांग की। घटना को गंभीरता से लेते हुए बजाग थाना प्रभारी अनुराग जामदार ने बिना देर किए थाना से एक पुलिस कर्मी को भेज महिला के पति को बुलवा लिया और उसके पति को समझाइश दी। थाना प्रभारी ने की ममता को समझते हुए फौरन ही उसके पति से कहा कि बच्चे को उसकी मां की गोद मे सौंप दे। महिला की गोद मे जैसे ही उसके कलेजे का टुकडा पहुंचा वैसे ही वह उसे दुलार करने लगीं। इस बीच थाना प्रभारी अनुराग जामदार ने महिला के पति को समझाया कि शराब ने जिले भर में कई परिवार बर्बाद किये है और इसके कारण कई महिलाएं विधवा और बच्चे यतीम की जिंदगी जीने को मजबूर है। थाना प्रभारी की समझाइश पर युवक ने दोबारा शराब पीकर अपनी पत्नी से मारपीट करने से तौबा कर लिया। थाना प्रभारी ने दोनो पति पत्नी को थाना में ही खाना खिलवाया और राजी खुशी उन्हें घर विदा किया। बजाग थाना प्रभारी अनुराग जामदार ने बताया कि उन्होंने डिंडोरी पुलिस अधीक्षक संजय सिंह से मिले निर्देशो का पालन किया है। सामाजिक पुलिस कार्य करने को कहा गया है।

Dindori dindori current news dindori hindi news dindori latest news dindori news dindori news in hindi

Show More
Dindori dindori current news dindori hindi news dindori latest news dindori news dindori news in hindi Dindori patrika news

Related posts