नोएडा अथॉरिटी के खिलाफ धरने पर बैठे सफाईकर्मियों ने कहा मांगे नहीं मानी गई तो कबूल करेंगे इस्लाम धर्म

नोएडा में 500 से अधिक सफाई कर्मी अथॉरिटी के खिलाफ धरने पर बैठे हैं और इनका आरोप है कि बार-बार आश्वासन देने के बाद भी इनकी मांगे नहीं मानी जाती। वेतनमान और मूलभूत सुविधाओं के साथ-साथ स्थाई नौकरी की मांग कर रहे इन कर्मचारियों ने अब साफ कह दिया है कि अगर अब इनकी मांगे नहीं मानी गई तो इस्लाम धर्म कबूल कर लेंगे

नोएडा ( vnoida ) नोएडा अथॉरिटी ( Noida Authority ) के खिलाफ अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे सफाई कर्मियों ने साफ शब्दों में कह दिया है कि अगर उनकी मांगें नहीं मानी गई तो वह इस्लाम धर्म कबूल कर लेंगे।
यह भी पढ़ें: जंगल में दिख रहे हथियारबंद बदमाश, ग्रामीणों में खौफ, पुलिस कर रही तलाशअपनी मांगों को लेकर दो सितंबर से यहां सफाई कर्मी धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। सफाई कर्मी संघ के महामंत्री सत्यवीर मखाना ने मंगलवार को यह ऐलान कर दिया कि 30 सितंबर तक उनका धरना प्रदर्शन जारी रहेगा अगर 2 अक्टूबर तक भी मांगे नहीं मानी जाती तो धरने पर बैठे 500 से अधिक सफाई कर्मचारी अपने परिवार के सदस्यों के साथ इस्लाम धर्म कबूल कर लेंगे।
यह भी पढ़ें: Weather Alert: अगले दो दिन यहां होगी झमाझम बारिश, गर्मी से मिलेगी राहत
सफाई कर्मियों की इस धमकी के बाद यह मामला सुर्खियों में आ गया है। दरअसल नोएडा में सफाई कर्मियों का आरोप है कि अथॉरिटी के अधिकारी उनका उत्पीड़न कर रहे हैं। लगातार उन्हें आश्वासन के अलावा कुछ भी नहीं मिल रहा और उनकी नौकरी भी स्थाई नहीं है। अखिल भारतीय सफाई मजदूर कांग्रेस कि नोएडा शाखा के अध्यक्ष बबलू ने भी इसकी पुष्टि की है। उन्होंने कहा है कि प्राधिकरण को करीब 500 सफाई कर्मचारी गत 30 वर्षों से अपनी सेवाएं दे रहे हैं बावजूद इसके उनकी मांगों को लेकर प्राधिकरण कतई गंभीर नहीं है।
यह भी पढ़ें: नवाजुद्दीन सिद्दकी की मुश्किलें बढ़ी, पत्नी ने दर्ज कराये थाने में बयान, दाेहराए गंभीर आरोप
उन्होंने यह भी कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बाल्मीकि समाज का सम्मान करते हैं लेकिन नोएडा अथॉरिटी में उनका उत्पीड़न हो रहा है। चेतावनी भरे शब्दों में उन्होंने कहा कि अब यह उत्पीड़न बर्दाश्त के बाहर हो गया है और अगर अब भी उनकी मांगे नहीं मानी जाती तो वह इस्लाम धर्म कबूल करने के लिए मजबूर होंगे।

Related posts