7 सितम्बर से दर्शनार्थियों के लिए खुलेंगे धार्मिक स्थल,करनी होगी गाइडलाइन की पालना

धौलपुर. राज्य सरकार के निर्देश के बाद ग्रामीण क्षेत्र के अलावा अन्य धार्मिक स्थलों मंदिर, मस्जिद, गिरजाघर एवं गुरुद्वारा को 7 सितम्बर खोले जाएंगे।जिला कलक्टर राकेश कुमार जायसवाल ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा र्धामिक स्थलों को खोले जाने की स्थिति की समीक्षा कर अब 7 सितम्बर से खोले जाने का निर्णय किया गया है।

7 सितम्बर से दर्शनार्थियों के लिए खुलेंगे धार्मिक स्थल,करनी होगी गाइडलाइन की पालना

7 सितम्बर से दर्शनार्थियों के लिए खुलेंगे धार्मिक स्थल,करनी होगी गाइडलाइन की पालनाधौलपुर. राज्य सरकार के निर्देश के बाद ग्रामीण क्षेत्र के अलावा अन्य धार्मिक स्थलों मंदिर, मस्जिद, गिरजाघर एवं गुरुद्वारा को 7 सितम्बर खोले जाएंगे।जिला कलक्टर राकेश कुमार जायसवाल ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा र्धामिक स्थलों को खोले जाने की स्थिति की समीक्षा कर अब 7 सितम्बर से खोले जाने का निर्णय किया गया है। श्रद्धालुओं व दर्शनार्थियों को र्धामिक स्थल में केवल दर्शन करने के लिए ही अनुमति प्रदान की गई है। कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए सभी प्रभावी उपाय किए जाने आवश्यक होंगे। धार्मिक स्थलों को 7 सितम्बर से आमजन के लिए खोले जाने के लिए गाइडलाइन जारी की गई है। बताया कि धार्मिक स्थलों में व्यक्तियों के प्रवेश के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग की अनुपालना आवश्यक होगी। श्रद्वालुओं में इस तरह अंतराल रखा जाए कि एक समय में पूजा स्थल के अन्दर व्यक्तियों की संख्या इस सीमा तक सीमित हो जाए, ताकि प्रत्येक से व्यक्ति की बीच कम से कम 6 फीट की दूरी रह सके। मस्जिदों में अदा की जाने वाली नमाज के दौरान नमाजियों की संख्या उपलब्ध स्थान एवं सामाजिक दूरी को ध्यान में रखते हुए रखी जाए। उन्होंने बताया कि धार्मिक स्थल के पुजारियों एवं दर्शनार्थियों द्वारा चेहरे पर फेस कवर पहनना अनिवार्य होगा। जो चेहरे पर फेस कवर पहने नहीं होगा उसे प्रवेश नहीं दिया जाएगा। र्धामिक स्थलों के सभी प्रवेश और निकास बिंदुओं और कॉमन स्थानों पर थर्मेल स्केनिंग, हैंडवाश और सेनेटाइजर का समुचित प्रबंधन किया जाएगा। धार्मिक स्थल के परिसर एवं इसमें स्थापित की गई आम सुविधाओं और मानव सम्पर्क के आने वाले सभी बिंदुओं जैसे फर्श, स्टील रेलिंग एवं दरवाजे के हैण्डल आदि का बार-बार सेनेटाइजेशन किया जाना अनिर्वाय होगा।फूल माला, प्रसाद, पूजा सामग्री ले जाने एवं घंटी बजाने पर प्रतिबंध
उन्होंने बताया कि धार्मिक स्थलों, पूजा स्थलों में कोविड-19 के संक्रमण रोकने के लिए बचाव उपायों के लिए जारी कि गए दिशा निर्देशों के अनुसार फूल माला, प्रसाद चढ़ाने व वितरण करने या पवित्र जल के छिडक़ाव आदि पर प्रतिबंध लगाया गया है। बड़े धार्मिक स्थलों में विशेष दिनों में दर्शनार्थियों की भीड नहीं जुटे और सोशल डिस्टेंसिंग की पालना सुनश्चिति की जाए। आरती को यथासम्भव ऑनलाइन देखने के लिए प्रोत्साहित किया जाए।

Dholpur Hindi news dholpur news dholpur news Hindi news dholpur news local news dholpur news news
Dholpur Hindi news dholpur news dholpur news Hindi news dholpur news local news dholpur news news

Related posts