चार बच्चों की मां को ग्रामीणों ने प्रेमी के साथ देखा तो पेड़ से बांधकर मारा

झारखंड के धनबाद में बिरनी थाना क्षेत्र के सरण्डा गांव में एक प्रेम जोड़ा को पेड़ से बांध कर पिटाई करने का मामला प्रकाश में आया है। घटना बिरनी थाना मुख्यालय से 12 किमी दूर सरण्डा गांव की है। दोनों कथित प्रेमी जोड़ा सरण्डा गांव के ही हैं। हालांकि बातचीत में दोनों ने स्वीकार किया है कि सात माह से उनमें जान पहचान और प्रेम संबंध था। महिला शादीशुदा है और चार बच्चे की मां है। बताया जाता है कि जिस वक्त दोनों की पिटाई की जा रही थी उस वक्त महिला का पति घर पर नहीं था। उसका पति रांची में रहकर मजदूरी का काम करता है। फिलहाल घायल दोनों प्रेमी जोड़ा पुलिस के कब्जे में है जिसका इलाज पुलिस प्रशासन के द्वारा कराया गया।
क्या है मामला  घटना के संबंध में बताया जाता है कि सरण्डा गांव निवासी शिवशंकर पासवान का 21 वर्षीय पुत्र सुखदेव पासवान मंगलवार अहले सुबह लगभग 6 बजे रेणू देवी पति राजू राम के घर गया था। इसकी सूचना ग्रामीणों को लग गयी। फिर कानों कान बात पूरे गांव में फैल गई। जिसके बाद ग्रामीण एकजुट होकर दोनों को कथित आपत्तिजनक स्थिति में पकड़ कर एक पेड़ में रस्सी से बांध दिया। इसके बाद आक्रोशित महिलाओं ने दोनों की जमकर पिटाई करने लगे। किसी तरह से घटना की जानकारी बिरनी थाना प्रभारी एके मिश्रा को मिली। आनन-फानन में मौके वारदात पर पहुंच कर थाना के एएसआई शिवजतन हेम्ब्रम ने प्रेमी जोड़ा को उग्र ग्रामीणों से मुक्त कराते हुए अपने कब्जे में कर लिया।
सात माह से चला रहा था प्रेम प्रसंग  प्रेमिका महिला रेणू देवी आंगनबाड़ी केंद्र सरण्डा में सहायिका पद पर कार्यरत है। मामले को लेकर प्रेमिका महिला रेणू देवी और प्रेमी सुखदेव पासवान ने पुलिस और ग्रामीणों की उपस्थिति में बताया कि सात माह से दोनों में प्रेम प्रसंग चल रहा था। महिला ने बताया कि मंगलवार सुबह एक जरुरी कागजात देने के लिए सुखदेव उसके यहां आया था। इसी बीच गांव की महिला लखिया देवी, लीलावती देवी, भिखनी देवी, फुलवा देवी आदि ने गलत संबंध बनाने का आरोप लगाकर हमदोनों को पकड़ कर पेड़ में बंध दिया और बुरी तरह से पिटाई की। मारपीट की घटना में महिला की बाईं आंख में जख्म हो गया है। वहीं युवक भी घायल है। 
क्या कहते हैं थाना प्रभारीथाना प्रभारी अर्जुन कुमार मिश्रा ने बताया कि महिला के साथ गांव की ही महिलाओं ने पेड़ में बांध कर पिटाई की है। उक्त लड़का को महिला कागजात देने के लिए बुलाई थी। अगर कोई भी व्यक्ति किसी को अपने घर काम से बुलाता है और उसके साथ मारपीट की जाती है तो कानूनन गलत बात है। कहा कि महिला के आवेदन के आधार पर मारपीट में शामिल सभी महिलाओं के विरुद्ध मॉब लिंचिंग का मुकदमा दर्ज होगा। इधर गांव की महिलाओं ने कहा कि दोनों के बीच प्रेम प्रसंग चल रहा है और आपतिजनक स्थति में पकड़े गये हैं। मारपीट की घटना नहीं हुई है।

Related posts

Leave a Comment