मोबाइल लोकेशन ने खोला डेढ़ महीने पहले हुई हत्या का राज, पड़ोसी युवक ही निकला युवती का कातिल

खास बातें14 साल की लड़की एक अक्टूबर को अचानक से लापता हो गई थीनम्बर उस लड़की के पड़ोस में रहने वाले युवक अजय वनवासी का निकलाउस लड़की के बारे में किसी भी तरह की जानकारी होने से इनकार कियामुंबई:कांदिवली पूर्व पोइसर में रहने वाली 14 साल की लड़की एक अक्टूबर को अचानक से लापता हो गई थी. परिजनों की ओर से लड़की के लापता होने की सूचना देने पर समता नगर पुलिस ने तुरंत FIR दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी थी. पुलिस ने सभी संभावित ठिकानों की तलाशी के बाद लड़की के मोबाइल फोन का सीडीआर निकाला. उसमें डायल नंबरों में से एक पर पुलिस को शक हुआ. पुलिस ने जांच की तो वो नम्बर उस लड़की के पड़ोस में रहने वाले युवक अजय वनवासी का निकला. पुलिस ने पूछताछ के लिए लड़के को बुलाया. बुलाते ही लड़का हाजिर हो गया और उस लड़की के बारे में किसी भी तरह की जानकारी होने से इनकार किया. इसके साथ ही  उसकी तलाश में सहयोग करता रहा.मां ने की बेटी की हत्या, बेटी के प्रेम संबध से थी नाराज
पुलिस लगातार लड़की की तलाश में जुटी रही. इस बीच 3 अक्टूबर को पालघर जिले के तलासरी में एक युवती का अधजला शव मिला. सूचना मिलने पर पुलिस लापता लड़की की मां को तलासरी ले गई. मां ने  बेटी को पहचान लिया. पुख्ता करने के लिये पुलिस ने डी एन ए टेस्ट कराया और फिर मां के डी एन ए से मिलान कराकर पहचान पुख्ता कर लिया. अब पुलिस ने अपनी जांच का दायरा तलासरी तक बढ़ा दिया. वहां के मोबाइल नंबरों की भी जांच शुरु हुई. करीब महीने भर की मशक्कत के बाद एक मोबाइल नंबर का लोकेशन वारदात के दिन यानी कि एक अक्टूबर की रात शव के आसपास मिला. पता चला कि वो तो मृत लड़की के पड़ोसी युवक अजय का ही दूसरा नंबर है जिसकी जानकारी उसने पुलिस से छुपा रखी थी. अब पुलिस ने फिर से उस पड़ोसी युवक को तलब किया. टिक टॉक पर पाबंदी के लिए मुंबई हाईकोर्ट पहुंची महिला, वीडियो ऐप पर लगाया यह आरोपथाना इंचार्ज राजू कसबे के मुताबिक आरोपी युवक ने फिर से खुद को बेगुनाह बताया. वो बोलता रहा कि अगर उसने कुछ किया होता तो हर बार बुलाने पर थाने क्यों आता? लेकिन जब पुलिस ने बताया कि उसने दूसरे नम्बर की जानकारी पुलिस को क्यों नही दी? और उसका लोकेशन तलासरी में शव के आसपास क्यों था? आरोपी के पास उसका कोई जवाब नही था और उसने गुनाह कबूल कर लिया. पुलिस के मुताबिक आरोपी अजय वनवासी मृतक लड़की से एक तरफा प्यार करता था. कोई दूसरा लड़का अगर युवती के घर आता या उससे बात करता तो उसे बुरा लगता था. एक अक्टूबर को उसने युवती को बहाने से अपने घर बुलाया और बलात्कार करने की कोशिश की. विरोध करने पर उसने युवती के सिर पर बोतल दे मारी. लड़की बेहोश हो गई तो उसे होश में लाने की बजाय उसका गला दबाकर हत्या कर दी.मुंबई: ग्राहकों से 300 करोड़ की धोखाधड़ी करने वाले ज्वेलरी स्टोर के मालिकों को पुलिस ने किया गिरफ्तारराजू कसबे के अनुसार युवक ने प्लास्टिक की एक बड़ी थैली में युवती का शव बांधा और रात के अंधेरे में  मोटरसाइकिल पर लाद कर तलासरी ले गया. वहां एक नाले के पास शव को फेंक दिया और बाईक से पेट्रोल निकाल कर शव को आग को हवाले कर वापस घर आ गया और पुलिस की जांच में सहयोग करने का अभिनय करने लगा था.टिप्पणियां

Related posts