सेकेंड हैंड के मुकाबले ज्यादा सुरक्षित होते हैं रिफर्बिश्ड फोन

द सेकेंड हैंड स्मार्टफोन मार्केट इन इंडिया’ नामक रिपोर्ट के मुताबिक, महंगे होने के बावजूद रिफर्बिश्ड स्मार्टफोन सेकेंड हैंड मोबाइल फोन के मुकाबले सुरक्षित होते हैं। 
यह रिपोर्ट कैशीफाई द्वारा प्रकाशित की गई है। कैशीफाई की रिपोर्ट ‘द सेकेंड हैंड स्मार्टफोन मार्केट इन इंडिया’ के अनुसार, भारत में कुल मोबाइल के बाजार में 11 फीसदी हिस्सेदारी रिफर्बिश्ड फोन की है। 
इतना ही नहीं भारत में सेकेंड हैंड और रिफर्बिश्ड फोन की वृद्धि दर लगभग 25 फीसदी रही है, जबकि वैश्विक स्तर पर सेकेंड हैंड फोन और रिफर्बिश्ड फोन की वृद्धि दर 18-20 फीसदी आंकी जा चुकी है।
पांच रियर कैमरे वाला फोन नोकिया 9प्योरव्यू भारत में लॉन्च 
रिफर्बिश्ड और सेकेंड हैंड फोन में अंतरसेकेंड हैंड या यूज्ड फोन बिना वारंटी के हो सकते हैं। यह बिना परीक्षण और क्वालिटी चेक के बाजार बेच दिए जाते हैं। इनमें क्षति या अन्य समस्याएं पाई जा सकती हैं। रिफर्बिश्ड मोबाइल का कई आधार पर परीक्षण किया जाता है और उसके बाद रिफर्बिश्ड का टैग लगाया जाता है। कई बड़ी कंपनियां रिफर्बिश्ड फोन पर वारंटी भी देती हैं। 

Related posts

Leave a Comment