उपचुनाव हिंसा में मारे गए युवक की शोक सभा में पहुंचे एसएसपी आैर की एेसी घोषणा कि आप भी करेंगे सराहना

मेरठ। मेरठ के बली गांव में जिला पंचायत उपचुनाव के दौरान हुई हिंसा में मारे गए युवक अनित गुर्जर की शोकसभा गांव में आयोजित की गई। इसमें एसएसपी मेरठ अजय साहनी भी पहुंचे। एसएसपी ने मृतक अनित गुर्जर के परिजनों को सांत्वना दी। एसएसपी ने मृतक के तीनों बच्चों को गोद लेने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि वह तीनों बच्चों को गोद लेते हैं और तीनों की पढ़ार्इ-लिखाई का खर्च वह खुद वहन करेंगे। इसमें वह किसी तरह की कोई सरकारी मदद नहीं लेंगे। अपनी ओर से ही पूरा खर्च उठाएंगे।
यह भी पढ़ेंः आॅन डिमांड लग्जरी कारों की चोरी करता था गैंग, कारनामे सुनकर पुलिस अफसर भी रह गए दंग, देखें वीडियो
हत्यारोपी अभी भी पुलिस की पकड़ से बाहर
बता दें कि बीती रविवार बली गांव में उपचुनाव के दौरान हुई हिंसा में अनित गुर्जर की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। गोली मारने वाला चुनाव तो जीत गया, लेकिन वह पुलिस गिरफ्त से अभी बाहर है। वहीं अनित गुर्जर की हत्या के बाद से गुर्जर समाज में रोष था। अनित की हत्या के बाद उसके परिजनों को सांत्वना देने के लिए भाजपाइयों की भीड़ जुटनी शुरू हो गई थी। सबसे पहले हस्तिनापुर विधायक दिनेश खटीक अनित के घर पहुंचे और हर संभव मदद का आश्वासन दिया। अनित की शोकसभा में कप्तान अजय साहनी बली गांव में पहुंचे और उसके तीन बच्चों को गोद लेकर सराहनीय कदम उठाया।
यह भी पढ़ेंः VIDEO: माॅब लिंचिंग के विरोध जुलूस में बवाल के आरोपी के अवैध हाॅस्पिटल पर चला हथौड़ा
पीड़ित परिवार को हर संभव मदद का आश्वासन
बुधवार को मृतक अनित गुर्जर की शोकसभा का आयोजन किया गया था। यहां एसएसपी अजय साहनी ने परिजनों से मुलाकात कर उन्हें हरसंभव मदद का भरोसा दिलाया। परीक्षितगढ़ के बली गांव में प्रधान के बेटे की हत्या के बाद जहां आरोपी विजय धामा का कोई सुराग नहीं लग सका है। वहीं दोनों गांवों में तनाव की स्थिति बरकार है। बली गांव में अनित गुर्जर के घर पर शोक सभा हुई। एसएसपी ने मृतक के परिजनों से मुलाकात कर सांत्वना दी आैर अनित के तीन बच्चों को गोद लेकर उनकी परवरिश और पढ़ाई-लिखाई की जिम्मेदारी उठाने की बात कही। एसएसपी ने कहा कि आरोपी को किसी तरह की कोई माफी नहीं मिलेगी। उसे गिरफ्तार कर हर संभव कठोर कार्रवाई की जाएगी। शोक सभा में विधायक दिनेश खटीक, अतुल प्रधान व मुखिया गुर्जर भी शामिल हुए।
UP News से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Uttar Pradesh Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

Related posts