10वीं फेल युवक बन गया Bike Bot Company का डायरेक्टर, फिर इस तरह लगाया 10 हजार करोड़ का चूना

नोएडा। एक कहावत बड़ी ही प्रसिद्ध है, अच्छे से पढ़ेंगे-लिखेंगे तो ही किसी कंपनी में बड़ा पद हासिल कर सकेंगे (ponzi scam bike bot) । लेकिन आज हम आपको एक ऐसे युवक के बारे में बताने जा रहे हैं जो 10वीं फेल होते हुए भी एक कंपनी का डायरेक्टर (director of bike bot) बन गया। बस, फिर क्या था। कंपनी को बढ़ाते गए और धीरे-धीरे हजारों लोगों को करीब 10 हजार करोड़ रुपये (scam) का चूना लगा दिया।
यह भी पढ़ें : IAS अभय सिंह और प्रथमा यूपी ग्रामीण बैंक में महाप्रबंधक के घर पड़ा CBI का छापा
दरअसल, यहां बात हो रही है पोंजी स्कीम के तहत हजारों लोगों से ठगी करने वाली बाइक बोट कंपनी के डायरेक्टर राजेश भारद्वाज (bike bot director rajesh bhardwaj) की। जिसे नोएडा पुलिस की एसआईटी (noida police) ने गिरफ्तार कर लिया है। राजेश वर्ष 2017 से गर्वित इनोवेटिव प्रमोटर्स लिमेटेड कंपनी (garvit innovative promotors limited) में डायरेक्टर था और इसके खिलाफ दादरी थाने में मुकदमा दर्ज था।
यह भी पढ़ें : इस तेजतर्रार IAS से की थी डीएम Abhay Singh ने पहली शादी, इन विवादों से रहे चर्चा में
पुलिस के मुताबिक मूल रूप से बुलंदशहर के खुर्जा निवासी राजेश फेज थ्री स्थित क्लियो काउंटी सोसाइटी में रह रहा था। वर्ष 2001 में उसने दिल्ली के जनकपुरी में सिक्योर लाइफ कंपनी शुरू की थी और इसमें वह मार्केटिंग का काम करता था। यहां निर्मित धूपबत्ती व अगरबत्ती को बेचने वह खुर्जा जाता था।
यह भी पढ़ें : कुपोषण को लेकर इस जिले में मिले हैरानी वाले आंकड़े, सीएमओ के गोद लिए गांव में रेड जोन में बच्चे
इस दौरान राजेश की मुलाकात बाइक बोट कंपनी के मालिक संजय भाटी से हुई। तब भाटी ने राजेश को बताया था कि उसकी कंपनी गर्वित इनोवेटिव प्रमोटर्स लिमिटेड ओला-उबर की तर्ज पर बाइक टैक्सी चलाने की योजना बना रही है। इसमें भाटी ने राजेश को साथ आने को कहा। जिसके बाद वह 2017 में गर्वित प्रमोटर्स में शामिल हो गया और बाइक बोट कंपनी के डायरेक्टर के पद पर काम कर रहा था।

Related posts

Leave a Comment