महरौली हत्याकांड: आरोपी शिक्षक 18 जून को करने वाला था पूरे परिवार की हत्या, लेकिन

महरौली हत्याकांड में अभी तक की जांच में सामने आया है कि 18 जून की रात को भी उपेन्द्र ने अपनी पत्नी व बच्चों की हत्या करने की कोशिश की थी। लेकिन वारदात को अंजाम देने से पहले ही उसकी पत्नी अर्चना की नींद खुल गई। अर्चना के उठने पर उपेन्द्र ने चाकू कमरे में ही रख दिया और खुद सो गया। 
खाने में मिलाई नींद की गोली : उपेन्द्र की सास ललिता ने पुलिस को दिए बयान में बताया है कि 21 जून की रात को वह करीब 4.30 बजे घर आया था। करीब 8 बजे जब ललिता खाना बनाने के लिए जाने लगी, तो उसने उपेन्द्र ने उसे रोक लिया। वह करीब 9.03 बजे बाहर से खाना लेकर आया। ललिता ने बताया कि सोने के बाद उसने किसी भी तरह की कोई आवाज नहीं सूनी। जबकि अक्सर रात को अर्चना दर्द होने के चलते कभी भी जाग जाती थी। 
महरौली हत्याकांड: आरोपी शिक्षक ने बताया, कैसे दिया था वारदात को अंजाम
ऐसे में उपेन्द्र द्वारा खाने में नींद की दवाई मिलाने की भी आशंका जताई जा रही है। पुलिस ने रात के खाने के कुछ सैम्पल को जांच के लिए भेज दिया है। 

Related posts

Leave a Comment