नारियल पानी पीने में बरतें ये सावधानियां, जानिए कब, कैसे और कितना पिएं यह अमृत

गर्मियों में दिन की शुरुआत नारियल पानी से करने पर न सिर्फ पेट और शरीर को ठंडक मिलती है, बल्कि मोटापे, अपच व डीहाइड्रेशन जैसी समस्याएं भी दूर रहती हैं। हालांकि मन में सवाल उठना भी लाजिमी है कि नारियल पानी कब पीना चाहिए? इसके आलावा सर्दी-जुकाम, डायबिटीज और जोड़ों में दर्द है तो इसे न पिएं। आइये जानें कि इसे कब, कितना पिएं और किन परिस्थितियों में न पिएं…

एक हफ्ते से ज्यादा पुराना न हो
नारियल को खोलने के तुरंत बाद पानी पी लें। लंबे समय तक खुला रखने से इसके पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं। ध्यान रखें कि नारियल एक हफ्ते से ज्यादा पुराना न हो।

डायबिटिज में राय-मशविरा जरूरी
अमेरिका और ब्रिटेन में हुए कई शोध में यह तथ्य सामने आया है कि नारियल पानी शरीर में शुगर का स्तर घटाने में मददगार है। हालांकि बेहतर यही होगा कि इसके सेवन से पहले चिकित्सक से परामर्श लिया जाए, ताकि शुगर ज्यादा घटने पर आपको परेशानी न झेलनी पड़े।

सुबह खाली पेट सेवन सबसे फायदेमंद
यूं तो नारियल पानी किसी भी समय पिया जा सकता है, लेकिन सुबह के वक्त खाली पेट नारियल पानी पीना सबसे उपयुक्त माना जाता है। अगर आप वजन कम करने की कोशिशों में जुटे हैं तो खाना खाने से पहले इसे पीना फायदेमंद साबित हो सकता है।

बीमारियों को बाय-बाय
उच्च रक्तचाप
इसमें मौजूद विटामिन सी, पोटैशियम, मैग्नीशियम रक्तचाप को नियंत्रित रखने में सहायक होते हैं। 

डीहाइड्रेशन
इसके सेवन से शरीर को तुरंत इलेक्ट्रोलाइट्स मिलते हैं, जिससे पानी की कमी से होने वाली समस्याएं दूर रहती हैं।

बुढ़ापा
इसमें पाए जाने वाले साइटोकिन्स नई कोशिकाओं के निर्माण को बढ़ावा देते हैं, जिससे ढलती उम्र के लक्षण जल्दी नहीं उभरते।

हृदयरोग
नारियल पानी कोलेस्ट्रॉल घटाने में सहायक। इसका एंटी-आक्सीडेंट गुण रक्त प्रवाह सुचारु बनाए रखता है।

मोटापा
नारियल पानी पूरी तरह से फैट रहित होता है। इसके सेवन से पेट भरा-भरा महसूस होता है और भूख जल्द शांत होती है।

सर्दी-जुकाम और बुखार में भी नुकसानदायक
– नारियल पानी की तासीर ठंडी होती है, इसलिए सर्दी-जुकाम और बुखार में इसका सेवन नुकसानदेय हो सकता है। 
– अगर जोड़ों में दर्द रहता है तो नारियल पानी पीने से बचें। नारियल पानी की ठंडी तासीर तकलीफ बढ़ा सकती है।
– कसरत करने के तुरंत बाद नारियल पानी पीने से बचें क्योंकि इसमें सोडियम की मात्रा कम होती है, जबकि पसीना आने से सोडियम ज्यादा निकलता है। 
– नारियल पानी में प्राकृतिक लैक्सेटिव गुण होते हैं। ज्यादा मात्रा में पीने से पेट दर्द की शिकायत हो सकती है।  

इसे भी पढ़ें : Health Tips : ये 8 उपाय भीषण गर्मी से बचने में करेंगे आपकी मदद, जानें Expert की राय

Related posts