भारत में पत्रकारों का है बुरा हाल, चीन में हालत और भी गंभीर, पढ़ें चौंकाने वाली रिपोर्ट

पेरिस:सोशल मीडिया पर यूपी के एक रिपोर्टर से मारपीट का वीडियो वायरल हो रहा है. वीडियो में अमित शर्मा नाम के स्ट्रिंगर की रेलवे पुलिस ने जमकर पिटाई की. पहले उसका मोबाइल छीना गया, मारपीट की गई और फिर रात भर जेल में रखा गया. इसका जुर्म सिर्फ इतना था कि वह ट्रेक शंटिग (ट्रेक बदलना) के दौरान मालगाड़ी के दो डिब्बे पटरी से उतरने के बाद बाधित हुए रेल मार्ग की रिपोर्टिंग कर रहा था. यहां देखिए ये वायरल वीडियो…#WATCH Shamli: GRP personnel thrash a journalist who was covering the goods train derailment near Dhimanpura tonight. He says, “They were in plain clothes. One hit my camera&it fell down. When I picked it up they hit&abused me. I was locked up, stripped&they urinated in my mouth” pic.twitter.com/nS4hiyFF1G— ANI UP (@ANINewsUP) June 11, 2019वीडियो सामने आने के बाद भारत में पत्रकारों की स्वतंत्रता पर सवाल खड़े हो गए. इससे कुछ दिन पहले ही मेक्सिको की एक महिला जर्नलिस्ट की हत्या कर दी गई थी. भारत और मेक्सिको में पत्रकारों के साथ ऐसे अपराध पहली बार नहीं हुए हैं. बल्कि इससे पहले भी बार पत्रकार अपनी स्वतंत्रता को लेकर इस लोगों शिकार हुए हैं. मेक्सिको पत्रकारों के लिए सबसे खतरनाक जगह है. अब तक इस देश में 100 से ज्यादा जर्नलिस्ट्स की हत्या की जा चुकी है. इन बढ़ते मामलों को देखते हुए वर्ल्ड प्रेस फ्रीडम इंडेक्स (World Press Freedom Index) ने एक ग्राफ जारी किया. इस ग्राफ में पत्रकारों के लिए सबसे खतरनाक जगहों के बारे में बताया गया.आप भी देखिए ये ग्राफ…Infographic on the state of global press freedom after the murder of a female journalist in southeast Mexicohttps://t.co/gBkCAYgaSBpic.twitter.com/uOL4VWykWU— AFP news agency (@AFP) June 12, 2019इस ग्राफ के मुताबिक पत्रकारों के लिए सबसे खतरनाक जगह चीन, सोमालिया और क्यूबा को बताया गया. वहीं, सबसे बढ़िया और सुरक्षित जगह नॉर्वे को बताया गया.. टिप्पणियां

Related posts

Leave a Comment