एग्जिट पोल के बाद EVM पर तकरार बढ़ी, भाजपा ने की सुरक्षा बढ़ाने की मांग

विपक्ष के आरोपों के बीच वित्त मंत्री अरुण जेटली ने सोमवार को कहा कि एग्जिट पोल में ईवीएम का कोई योगदान नहीं होता है। ऐसे में अगर आम चुनाव का वास्तविक परिणाम भी अगर एक्जिट पोल के अनुरूप रहता है तब विपक्ष द्वारा उठाए गए फर्जी ईवीएम मुद्दे का भी अस्तित्व नहीं रह जाएगा। 
अपने ब्लॉग ‘एक्जिट पोल का संदेश’ में जेटली ने उम्मीद जताई 2019 का चुनाव परिणाम इस संबंध में आए एक्जिट पोल के अनुरूप होगा। विभिन्न पोल में एक समान संदेश है। इसमें भाजपा नीत एनडीए के दोबारा सत्ता में आने का पूर्वानुमान व्यक्त किया गया है। 
उन्होंने कहा, अगर एक्जिट पोल 2014 के चुनाव परिणाम की तरह होते हैं तो यह स्पष्ट हो जाएगा कि भारतीय लोकतंत्र परिपक्व हो गया है। मतदाता अपनी पसंद चुनने से पहले राष्ट्रीय हितों को सर्वोपरि मानते हैं। आम चुनाव 2019 के लिए रविवार शाम जारी एक्जिट पोल के मुताबिक फिर एनडीए बहुमत से केंद्र में सरकार बनाता दिख रहा है। कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि मतदाता अब प्रतिद्वंद्वियों के गठबंधन पर भरोसा करने को तैयार नहीं हैं। 
लोकसभा चुनाव के नतीजों से पहले आए एग्जिट पोल को लेकर सरकार और विपक्ष के बीच तकरार बढ़ गई है। एक तरफ जहां कांग्रेस ने एग्जिट पोल को खारिज करते हुए कहा कि पोल के नतीजे सही साबित हुए तो इसका मतलब है ईवीएम में धांधली हुई है। वहीं, भाजपा का कहना है लोकसभा चुनाव के परिणाम एक्जिट पोल के अनुरूप ही होंगे।
ईवीएम की सुरक्षा कड़ी करे आयोग: भाजपासर्वेक्षणों में बहुमत मिलने के अनुमानों से उत्साहित भाजपा को विपक्षी दलों के शासन वाले राज्यों में मतगणना में हेरफेर की आशंका सताने लगी है। पार्टी नेता एवं केंद्रीय मंत्री निर्मला सीतारमण व पीयूष गोयल ने सोमवार को चुनाव आयोग से आग्रह किया बंगाल, ओडिशा, कनार्टक, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में ईवीएम की सुरक्षा कड़ी की जाए। वोटों की गिनती का काम केंद्रीय चुनाव आयोग की निगरानी में पारदर्शी एवं सुरक्षित ढंग से सुनिश्चित किया जाए। 
विपक्ष का आत्मचिंतन करना चाहिए: शाहनवाजभाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा कि एक्जिट पोल तो सिर्फ झांकी है। 23 मई को असली तस्वीर आएगी। भाजपा को पूर्ण बहुमत मिलेगा एवं एनडीए दो तिहाई बहुमत प्राप्त करेगा। अब कांग्रेस एवं अन्य विपक्षी दलों को नकारात्मकता पर आत्मचिंतन करना चाहिए। शाहनवाज ने दावा किया कि पार्टी पन्ना प्रमुखों की रिपोर्ट के आधार पर हम कह सकते हैं कि भाजपा को 300 से अधिक *सीटें प्राप्त होंगी। 
यही नतीजे आए तो धांधली हुई है : कांग्रेसलोकसभा चुनाव 2019 के नतीजों से पहले भाजपा के पक्ष में आए एक्जिट पोल को विपक्ष ने खारिज कर दिया है। कांग्रेस नेता राशिद अल्वी ने बयान दिया है कि अगर एक्जिट पोल के नतीजे सही साबित होते हैं, तो इसका मतलब ईवीएम में धांधली हुई है।
एक चैनल से बातचीत पर अल्वी ने कहा कि सभी एग्जिट पोल एकतरफा नतीजे दिखा रहे हैं, इसलिए हम उसपर भरोसा नहीं कर रहे हैं। अगर एक्जिट पोल जैसे रिजल्ट आते हैं तो हमारा मानना है कि पिछले दिनों तीन राज्यों के चुनाव में जहां-जहां कांग्रेस जीती है वह एक साजिश थी। तीन राज्यों में कांग्रेस की जीत के साथ ये भरोसा दिलाया गया कि ईवीएम सही है। इससे यह भी साबित करने की कोशिश हुई कि चुनाव आयोग पर सरकार का कोई दखल नहीं है। राशिद अल्वी ने एक्जिट पोल करने वाली कंपनियों पर भी सवाल खड़ा किया है।
नतीजों को कयास बता किया खारिज :केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने केंद्र में एनडीए के एक बार फिर सरकार बनाने का पूर्वानुमान लगाने वाले एक्जिट पोल को नकार दिया। उन्होंने सोमवार को कहा कि अटकलों पर आधारित अटकलबाजी पर भरोसा करने की कोई आवश्यकता नहीं है। 
पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने माकपा नेतृत्व वाले वाम लोकतांत्रिक मोर्चा (एलडीएफ) के लोकसभा चुनाव में बेहतरीन प्रदर्शन करने का आश्वासन जताया। एक्जिट पोल ने केरल में वाम मोर्चे के खराब प्रदर्शन पूर्वानुमान लगाया है। उन्होंने कहा कि एक्जिट पोल के चुनाव नतीजों का सही आकलन करने में गलत साबित होने के कई उदाहरण हैं। 2004 में अधिकतर एक्जिट पोल ने केंद्र में दोबारा एनडीए सरकार के आने की बात कही थी, लेकिन वह गलत साबित हुए। विजयन ने कहा कि वह 23 मई तक इंतजार करेंगे।
टीएमसी को जीत का भरोसाकोलकाता। तृणमूल कांग्रेस ने सोमवार को एक्जिट पोल को अटकलें करार देते हुए कहा कि जिलों और सभी निर्वाचन क्षेत्रों से मिली आंतरिक रिपोर्टों के अनुसार इस बार भी उनकी जीत होगी।
एक्जिट पोल के अनुमानों से हैरान मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने तृणमूल की जीत का दावा करते हुए कहा कि वह नई सरकार के गठन में प्रमुख भूमिका निभाएगी। इसके लिए वह विभिन्न विपक्षी दलों के संपर्क में हैं।  

Related posts

Leave a Comment