दिल्ली: जब पीक आवर्स में आई मेट्रो में दिक्कत, तो लोगों को ऐसे किया रेस्क्यू

दिल्ली मेट्रो सेवाओं में खराबी का सिलसिला थम नहीं रहा है। मंगलवार को एक बार हुडा सिटी सेंटर और सुल्तानपुर के बीच येलो लाइन पर मेट्रो सेवा प्रभावित हुई। बताया जा रहा है कि येलो लाइन पर एक ट्रेन की ओएचई टूटने से सेवाएं प्रभावित हुई हैं। ड्यूटी जाने के पीक अवॉर्स में मेट्रो सेवा प्रभावित होने से स्टेशनों पर लोगों की काफी भीड़ इक्ट्टा हो गई है। दिल्ली मेट्रो ने दो लूप में मेट्रो चला रही है। 
आपको बता दें कि सोमवार को एक बार फिर रेड लाइन पर दिलशाद गार्डन से शहीद स्थल के बीच मेट्रो सेवाएं प्रभावित रहीं। डीएमआरसी के मुताबिक, तकनीकी खामी के चलते यह समस्या आई थी। इसे 10 से 15 मिनट में ठीक कर लिया गया। 

मंगलवार को येलो लाइन पर मेट्रो सेवा में कुछ दिक्तत आई। इसकी वजह ओएचई या फिर बिजली आपूर्ति बाधित होने की वजह से यह समस्या हुई है। मालवीयनगर पर मेट्रो दोनों तरफ़ अटकीं है। डीएमआरसी ने विलंब की उद्घोषणा भी की है। क़ुतुब मीनार और छतरपुर के बीच एक मेट्रो अटकने से यात्रियों को रेस्क्यू किया गया। लोगों को ट्रैक पर से निकाला गया है।
डीएमआरसी ने बताया कि छतरपुर में किसी दिक्कत के चलते मेट्रो सेवा अस्थायी रूप प्रभावित हुई है। यह दिक्तत हुडा सिटी सेंटर और सुल्तानपुर के बीच, समयापुर बादली और कुतुब मीनार के बीच आई है। सुलतानपुर और कुतुब मीनार के बीच कोई ट्रेन नहीं चलेगी जब तक समस्या ठीक नहीं हो जाती। दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने बताया है कि यात्रियों की सुविधा के लिए DMRC सुल्तानपुर और कुतुब मीनार के बीच फीडर बस सेवा चलाई है। 
गौरतलब है कि सोमवार को रेड लाइन पर दोपहर करीब 2:50 बजे दिलशाद गार्डन से शहीद स्थल के बीच मेट्रो की रफ्तार थम गई। इस दौरान इस करीब 9 किलोमीटर के इस सेक्शन पर सिग्नलिंग में कुछ खराबी आने से मेट्रो रुक-रुककर आगे बढ़ी। इससे यात्रियों को स्टेशनों पर मेट्रो का इंतजार अधिक करना पड़ा। मेट्रो के मुताबिक, खराबी को 10 मिनट के अंदर ही ठीक कर लिया गया था। मगर, यात्रियों की मानें तो 15 मिनट से अधिक समय तक परेशानी रही। 
हालांकि, डीएमआरसी का दावा है कि इस दौरान दिलशाद गार्डन से रिठाला के बीच मेट्रो सेवाएं सामान्य रहीं। इस हिस्से में यात्रियों को परेशानी नहीं हुई। गौरतलब है कि 1 मई से लेकर अब तक मेट्रो 18 बार से अधिक बार अलग-अलग लाइनों पर खराबी हो चुकी है। अकेले रेड लाइन पर बीते 20 दिनों में 5वीं बार खराबी आई है। लगातार आ रही समस्याओं को अब यात्री भी सोशल मीडिया पर सवाल उठाने लगे हैं।

Related posts

Leave a Comment